Friday, November 14

अनार करे दूर विकार


प्यास,शरीर में जलन और बुखार में लाभकारी होता है।
ह्रदय रोगों में विशेष रूप से लाभप्रद है।
खट्टा मीठा अनार अतिसार और खुजली में लाभकारी है।
सुखी खाँसी में अनार का सूखा छिलका उपयोग करें,लाभ होगा।
यकृत के लिए रामबाण है।
रक्त विकारों में लाभ देता है।
सीने की जलन शांत करता है।
पेट को मुलायम रखता है।

No comments: