Friday, November 14

अनानास से फायदे


शरीर के भीतरी विषों को बाहर निकलता है।
क्लोरिन की मात्र अनानास में भरपूर होती है।
पित्त विकारों में विशेष रूप से लाभकारी है।
पीलिया,पांडू रोगों में लाभकारी है।
गले के रोगों में लाभदायक है।
मूत्र के रोगों में लाभदायक है।

1 comment:

dr.aalok dayaram said...

मैं अभी आपके नेचर क्योर आलेख का अध्ययन कर रहा हूं सोचा पहिले टिप्पणी लिख दूं
हेमन्तजी आपने बिल्कुल ठीक लिखा है कि कुदरती पदार्थों से चिकित्सा रसायनिक योगों द्वारा चिकित्सा करने की अपेक्छा ज्यादा उपकारी और निरापद होती है। मैने भी कुदरती पदार्थों से चिकित्सा के कई चिट्ठे लिखे है,रुग्ण-मानव सेवा ही लक्छ है।